Pulwama terror attack anniversary: Uttarakhand के Haldwani में शहीदों की याद में तैयार हुआ, 'Pulwama शहीद वाटिका'

Publish Date: 14 Feb, 2020

Pulwama आतंकी हमले (terror attack) को आज पूरा एक साल हो गया है (first anniversary of Pulwama terror attack) और इसी अवसर पर आज J&K के Lethpora में memorial पर उन्हें tribute दी गई. कश्मीर के Pulwama जिले में Jaish-E-Mohammad के एक terrorist ने विस्फोटकों से लदे वाहन से CRPF जवानों की बस को टक्कर मार दी. इसमें 40 soldiers martyred हो गए और कई गंभीर रूप से घायल हो गए. इस हमले के बाद भारत ने भी Pakistan के Balakot में आतंकवादियों के camps में घुसकर उन्हें इन camps पर हमला कर उन्हें ध्वस्त किया जिसके बाद ये Balakot air Strike के नाम से जाना गया. ये घटना केवल J&K के लिए ही नहीं बल्कि पूरे देश के लिए एक दर्दनाक घटना है. Pulwama के उन्ही शहीदों को श्रद्धांजलि देने और उन्हें याद कर Uttarakhand के Haldwani में 'Pulwama शहीद वाटिका' तैयार की गई है. वन अनुसंधान केंद्र के Ranger Madan Bisht का कहना है कि पिछले साल कश्मीर के पुलवामा आतंकी हमले में Martyr Major Vibhuti औऱ Major Chitresh समेत 40 martyrs की याद में शहीद वाटिका बनाई गई है, देश के लिये शहीदों को किसी ने केंडल मार्च के जरिये श्रद्धाजंलि दी तो किसी ने मौन ऱखकर दी, लेकिन वह अनुसंधान केंद्र ने 42 पौधों की वाटिका इनकी याद में तैयार कर दी है. इस वाटिका में बेल, रुद्राक्ष, आम, तिमिला, पीपल, बेडू, तेजपत्ता, जामुन, च्यूरा, इमनी, टीढ़ा, पुत्रजीवा, गुलमोहर, कदंब, मौलश्री आदि के पौधे लगाए गए हैं। शहीद वाटिका में जैव विविधता का रखा पूरा ध्यान रखा गया है, इसमें औषधीय पौधे भी लगाए हैं। ये पौधे शहीदों की तरह महत्वपूर्ण हैं। पर्यावरण को प्रदूषित होने के अलावा पक्षियों के लिए भी लाभदायक है। मनुष्यों के रोगों को दूर करने के लिए भी उपयोगी हैं। जैसे जैसे वाटिका गुलज़ार होगी शहीदों की याद हमारे जेहन में ताज़ा होती रहेगी.

Read More..

Related videos