RBI Monetary Policy: रेपो रेट में नहीं हुआ बदलाव, 2021-22 में 9.5% हो सकती है- Watch Video

Publish Date: 04 Jun, 2021 |
 

RBI Monetary Policy:

Reserve Bank of India ने इस बार भी ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। कोरोना संकट की दूसरी लहर और महंगाई के हालात को ध्यान में रखते हुए RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने बाजार की उम्मीद के अनुसार रेपो रेट (4%), रिवर्स रेपो रेट (3.35%) और कैश रिजर्व रेश्यो (CRR-4%) की दरों में कोई भी बदलाव नहीं किया है। 


RBI ने ब्याज दरों में नहीं किया कोई बदलाव 


मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी (MPC) के कुल 6 सदस्यों ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं करने का फैसला किया है। इसके साथ ही रिजर्व बैंक ने कहा है कि जब तक कोरोना वायरस का असर कम नहीं होता, उस समय तक अपना रुख अकोमोडेटिव बरकरार रखने का ऐलान किया है। इसका मतलब ये है कि भविष्य में ब्याज दरों में किसी भी कटौती की गुंजाइश होगी तो वो हो सकती है। वहीं, इसके अलावा मार्जिनल स्टैंडिंग फैसिलिटी (MSF) रेट और बैंक रेट को भी 4.25 प्रतिशत पर बरकरार रखा गया है। 



कोरोना महामारी का असर कई गांवों और छोटे शहरों पर हुआ 

रिजर्व बैंक ने कहा कि कोरोना संकट की दूसरी लहर का छोटे शहरों पर बहुत असर पड़ा है। गांवों में कोरोना वायरस के पहुंचने से डिमांड में डाउनसाइड रिस्क बने रहने की उम्मीद है। लेकिन वहीं, दूसरी लहर में मोर्टेलिटी रेट मतलब की मृत्यु दर पहली लहर से अधिक रहा है, लेकिन आर्थिक गतिविधियों पर इसका अधिक असर नहीं हुआ है। RBI गवर्नर ने ऐसी उम्मीद जताई है कि वैक्सीनेशन की प्रक्रिया में तेजी से रिवाइवल में भी तेजी आने की उम्मीद है।  


 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept