Weekly Tech Wrap: Realme X2 Pro, Vivo U20 लॉन्च समेत, टेक जगत की बड़ी खबरें

Publish Date: 23 Nov, 2019

चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Realme ने इस सप्ताह भारतीय बाजार में अपने पहले फ्लैगशिप स्मार्टफोन Realme X2 Pro को लॉन्च कर दिया है। इस स्मार्टफोन को पिछले महीने चीन में लॉन्च किया गया था। इसके अलावा कंपनी ने पिछले दिनों भारत में लॉन्च हुए Realme 5 सीरीज के एक और स्मार्टफोन Realme 5s को भी भारत में लॉन्च कर दिया है। Realme X2 Pro को 8GB+128GB और 12GB+256GB दो स्टोरेज वेरिएंट में लॉन्च किया गया है। Realme X2 Pro के 8GB+128GB मॉडल की कीमत 29,999 रुपये है जबकि 12GB+256GB मॉडल की कीमत 33,999 रुपये है। ये स्मार्टफोन Ocean Mist और Lunar white दो कलर वेरिएंट में उपलब्ध है। कंपनी ने Realme X2 Pro केMaster Edition को भी भारत में लॉन्च किया है जो कि Concrete और Red Brick कलर वेरिएंट में उपलब्ध होगा। Master Edition को भारत में 12GB+256GB एक ही स्टोरेज वेरिएंट के साथ पेश किया गया है। इसकी कीमत 34,999 रुपये है। Realme X2 Pro की खास बात ये है कि इसे क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 855+ चिपसेट प्रोसेसर के साथ लॉन्च किया गया है। साथ ही इसमें 90Hz की रिफ्रेश रेट वाली सुपर-AMOLED डिस्प्ले दी गई है। जल्द ही हम इस स्मार्टफोन का रिव्यू अपने चैनल जागरण हाई टेक पर लेकर आएंगे। Vivo U20 चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Vivo ने अपने एक और 5000mAh बैटरी वाले दमदार स्मार्टफोन Vivo U20 को भारत में लॉन्च कर दिया है। ये इस साल इंड्रोड्यूस किए गए Vivo U10 के अगले मॉडल के तौर पर लॉन्च किया गया है। Vivo U20 को दो स्टोरेज ऑप्शन्स 4GB+64GB और 6GB+64GB में लॉन्च किया गया है। इसके बेस वेरिएंट की कीमत Rs 10,990 है, जबकि इसके दूसरे वेरिएंट की कीमत Rs 11,990 है। इसका लुक और डिजाइन Vivo U10 की तरह ही है। इसे भी ट्रिपल रियर कैमरा ऑप्शन के साथ लॉन्च किया गया है। Telecom Tarrif टेलिकॉम सेक्टर में पिछले तीन साल से चल रहे प्राइस वॉर पर विराम लगने वाला है। पिछली तिमाही में देश की दो बड़ी और पुरानी टेलिकॉम कंपनियों को भारी नुकसान उठान पड़ा है। इस नुकसान की भरपाई के लिए कंपनियों ने 1 दिसंबर से अपने कॉल टैरिफ को बढ़ाने का फैसला किया है। AGR Verdict के बाद से टेलिकॉम कंपनियों पर Rs 92,000 करोड़ का वित्तीय दबाब है। Vodafone-Idea, Airtel, Reliance Jio के बाद अब पब्लिक सेक्टर की कंपनी BSNL ने भी अपनी मोबाइल सर्विस की दरें बढ़ाने की घोषणा की है। एक्सपर्ट की मानें तो चुनौतीपूर्ण प्राइसिंग की वजह से टेलिकॉम कंपनियों पर मुनाफा कमाने का दबाब होता है। स्पेक्ट्रम और इंफ्रास्ट्रक्चर के रख-रखाव के बाद टेलिकॉम कंपनियों की मुनाफा कमाने की गुंजाइश बेहत कम होती है। यही वजह है कि टेलिकॉम कंपनियों को वित्तीय लाभ नहीं हो पा रहा है। मिनिमम प्राइसिंग हो जाने के बाद टेलिकॉम कंपनियों को मुनाफा कमाने की गुंजाइश निकल सकती है और वे वित्तीय घाटे की भरपाई कर सकते हैं। यही कारण है कि सभी टेलिकॉम कंपनियों ने अपनी कॉल और डाटा की दरें बढ़ाने की घोषणा की है। हालांकि, सरकार ने इन टेलिकॉम कंपनियों को 42,000 करोड़ का रिलीफ पैकेज भी दिया है साथ ही AGR Verdict के बाद बकाए के भुगतान के लिए दो साल का भी समय दिया गया है।

Read More..

Related videos