Night Curfew In Delhi : दिल्‍ली में 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू, रात 10 से सुबह 5 बजे तक रहेगा लागू

Publish Date: 06 Apr, 2021 |
 

Night Curfew In Delhi: कोरोनावायरस के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। राजधानी दिल्ली देश के उन पांच राज्यों में शामिल है, जहां कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे है। इसी को देखते हुए दिल्ली सरकार ने 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है। दिल्ली सरकार के आदेश के मुताबिक रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू किया गया है।

कोरोना मामलों में बढ़ोतरी वाले दूसरे राज्यों जैसे महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में पहले ही नाइट कर्फ्यू लगाया जा चुका है। सीएम केजरीवाल कई बार कह चुके हैं कि लॉकडाउन कोई हल नहीं है। ऐसे में नाइट कर्फ्यू के जरिए मूवमेंट पर थोड़ी रोक लगाने की कोशिश की जा रही है। पिछले 24 घंटों में दिल्ली में 3,548 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 15 मरीजों की मौत हो गई। राज्य में कुल सक्रिय मामलों की संख्या 14,589 पहुंच गई है। दिल्ली में कोरोना वायरस का पॉजिटिविटी रेट 5% से ज्‍यादा हो गया है। वहीं कंटेन्मेंट जोन्स की बात करें तो, दिल्ली में 3 हजार से ज्यादा कंटेन्मेंट जोन्स है।

नाइट कर्फ्यू में इन लोगों को मिलेगी छूट

नाइट कर्फ्यू के दौरान जो लोग वैक्सीन लगवाने जाना चाहते है उनको छूट होगी।

प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को मूवमेंट की इजाजत होगी

राशन, किराना, फल सब्जी, दूध, दवा से जुड़े दुकानदारों को ई-पास के जरिए ही मूवमेंट की छूट दी जाएगी।

वैध टिकट दिखाने पर एयरपोर्ट रेलवे स्टेशन और बस अड्डे आने जाने वाले यात्रियों को छूट होगी।

आईडी कार्ड दिखाने पर प्राइवेट डॉक्टर नर्स पैरामेडिकल स्टाफ भ छूट होगी।

गर्भवती महिलाओं और इलाज के लिए जाने वाले मरीजों को छूट मिलेगी।

 पिछले 24 घंटो में 96,982 नए केस

स्वास्थ्य मंत्रालय  द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना के मामले 1 करोड़ 26  लाख के पार पहुंच चुके हैं। पिछले 24 घंटे में कोरोना  96,982 में नए मामले सामने आए हैं जबकि 50,143 मरीज ठीक हो गए और 446 लोगों की मौत हुई है। अब तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,65,547 हो गई है। देशभर में कोरोना के लिए 5 अप्रैल तक   25,02,31,269 करोड़ टेस्ट किए गए। जिनमें से एक दिन में 12,11,612 नमूनों की जांच की गई। देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 1,26,86,049 हो गए हैं, जिनमें 7,88,223 लोगों का उपचार चल रहा है।

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept