Uttarakhand Rescue Operation: तपोवन सुरंग से मलबा निकालने का कार्य जारी, मृतकों की संख्या बढ़कर हुई 67 – Watch Video

Publish Date: 21 Feb, 2021 |
 

Uttarakhand Rescue Operation: उत्तराखंड के चमोली के तपोवन सुरंग में फंसे लोगों तक पहुंचने का 15वें दिन भी पूरा नहीं हो पाया। ग्लेशियर टूटने से आए सैलाब में मरने वाली की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। शव मिलने का सिलसिला जारी है। शनिवार यानी 20 फरवरी को Tapovan Dam के मलबे से 5 और शव मिले हैं। आपदा में लापता हुए 204 लोगों में से अभी तक कुल 67 शव और 27 मानव अंग अलग-अलग स्थानों से बरामद हुए हैं।

अभी तक 96 परिजनों एंव 73 शवों के डीएनए सैंपल मिलान के बाद देहरादून भेजे गए हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि 30-35 लोग सुरंग में फंसे हो सकते हैं। NDRF ने बताया है कि, ‘काम अभी भी जारी है, 24X7 जारी है, हम पूरी कोशिश कर रहे हैं कि जल्द कामयाबी हासिल कर सके... मलबे में काम करना हमेशा से एक चुनौतीपूर्ण काम होता है।’ 

आपको बता दें कि 7 फरवरी को ऋषि गंगा में आई बाढ़ की वजह से 35 लोग तपोवन सुरंग में फंस गए थे। बैराज, ऋषिगंगा जल विद्युत परियोजना स्थल और दूसरी नदी किनारे सैकड़ों लोग मलबे में दब गए थे। उस समय से ही सुरंग और आसपास के लापता लोगों की खोज जारी है।  इस सुरंग का मलबा हटाने के लिए जेसीबी के साथ-साथ डम्पर भी लगाए गए थे। इतना ही नहीं नई मशीनों से फिर ड्रिल भी शुरू किया गया। शुरूआत के पांच दिन केवल जेसीबी ही मलबा हटाने का काम कर रही थी। लेकिन अब जेसीबी के साथ सुरंग में डम्पर भी भेजे जा रहे हैं।  ड्रिल के प्रयास से भी फंसे लोगों तक पहुंच अब भी सफलता नहीं मिली है। अभी भी सुरंग करीब 30 मीटर तक पूरी तरह बंद है। बता दें कि सुरंग के अंदर लगातार मलबा आ रहा है। वहीं, दूसरी तरफ ड्रिल के माध्यम से भी अभी करीब आठ मीटर ही छेद हो पाया है। जबकि करीब 13 मीटर जाना है। बचाव कार्य में सेना, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ की टीमें जुटी हैं।  

 

Related videos

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept