Valentine's Day Special : Why we celebrate Valentines Day ? कैसे होती थी छुप छुप कर शादियां -History

Publish Date: 13 Feb, 2020

Valentine's Day Special: वेलेंटाइन डे हर साल 14 फरवरी को मनाया जाता है, जिसे लव-वर्ड्स या कपल प्यार का त्योहार के रूप में मनाते हैं .वेलेन्टाइन डे का इतिहास: तीसरी शताब्दी में रोम में एक क्लॉडियस नामक राजा हुआ करता था जो बहुत ही क्रूर था। उसका ऐसा मानना था कि रिश्तों में बंधा व्यक्ति कभी आगे नहीं बढ़ सकता। प्यार और शादी सिर्फ व्यक्ति को कमजोर बनाने का काम करते हैं। तमाम तरह की जिम्मेदारियां और मोहमाया का जाल में फंसकर कई बार सही फैसले भी नहीं ले पाता। इन्हीं चीज़ों के चलते उसने अपने राज्य में किसी भी सैनिक को शादी और प्यार न करने की सख्त हिदायत दे रखी थी। जिसे न चाहते हुए भी सैनिकों को मानना पड़ता था क्योंकि फैसले के खिलाफ जाने की किसी की हिम्मत नहीं थी।क्लॉडियस के राज्य में ही एक संत हुआ करते थे जिनका नाम वेलेन्टाइन था। जिन्होंने इस बात को बिल्कुल गलत बताते हुए प्यार और शादी का खूब प्रचार-प्रसार किया। यहां तक कि राजा से छिपकर कई सैनिकों की शादियां भी करवाई। लेकिन उनका ये काम बहुत दिनों तक राजा से छिपा नहीं पाया। जब इस बात का उसे पता लगा तो उसने अपना गुस्सा संत को फांसी की सजा सुनाकर निकाला। कुछ दिनों तक संत वेलेन्टाइन को जेल में भी रखा गया।वेलेन्टाइन एक संत थे और सबकी मदद करना उनका स्वभाव था तो उस दौरान भी वो इससे पीछे नहीं हटे। उनकी कृपा से जेलर की बेटी की आंखों की रोशनी वापस आ गई। जिसके बाद से संत और जेलर की बेटी के बीच बातचीत होने लगी। दोनों की बातचीत कब प्यार में बदल गई इसका उन्हें खुद भी अंदाजा नहीं लगा। और फिर वो दिन आ गया जब वेलेन्टाइन को फांसी होने वाली थी। जिससे पहले उन्हें जेलर से कागज, कलम मांगकर उनकी बेटी के लिए एक खत लिखा। जिसके अंत में लिखा था, 'तुम्हारा वेलेन्टाइन'। और ये दिन था 14 फरवरी। तब से इस दिन को वेलेन्टाइन डे के रूप में मनाया जाने लगा। पश्चिमी देशों में ही नहीं भारत में भी इस दिन को बहुत ही खास तरीके से सेलिब्रेट किया जाता है।

Read More..