Indian rafale vs chinese j 20: जानिए भारतीय Rafale और चीन का Chengdu J-20 में कौन सा लड़ाकू विमान है सबसे ज्यादा ताकतवर – Watch Video

Publish Date: 31 Jul, 2020
 
Indian rafale vs chinese j 20: Rafale ने Ambala Airbase पर कल सफल लैंडिंग कर ली है। Rafale का पहला बैच 30 July 2020 को दोपहर करीब 3:20 बजे Ambala Airbase पहुंचा। Rafale को दुनिया के सर्वश्रेष्‍ठ Fighter Jets में शुमार किया जाता है। France से भारत आने में Rafale 7000 किलोमीटर की दूरी तय की है, 7000 किलोमीटर की इस यात्रा में Rafale संयुक्त अरब अमीरात में एक जगह रुका था। इस Video में हम आपको बताने वाले हैं कि भारत के Rafale और चीन के Chengdu J-20 में कौन सा लड़ाकू विमान बेहतर है? Rafale और Chengdu J-20, दोनों ही सिंगल सीटर, ट्विन इंजन एयरक्राफ्ट्स हैं। जहां चीनी J-20 का मेन रोल स्‍टील्‍थ फाइटर का है, वहीं Rafale को कई कामों में लगाया जा सकता है। Chengdu J-20 का यूज दुश्‍मन पर नजर रखने के लिए करता है। Rafale को निगरानी के अलावा सोर्टीज और अटैक में भी आसानी से यूज किया जा सकता है। Rafale को भारत की जरूरतों के हिसाब से मॉडिफाई किया गया है जो इसे Chengdu J-20 पर थोड़ी बढ़त देता है। Chengdu J-20 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से उड़ सकता है साथ ही इंटरनल कैनन लगा है। इसमें AESA रडार लगा हुआ जो ट्रैक सेंसर से लैस है। हथियारों के साथ इसका वजन करीब 32 हजार होता है। इसकी कुल लंबाई 20 मीटर है। Rafale का कॉम्बैट रेडियस 3700 किलोमीटर है। चीन का Chengdu J-20 विमान Rafale के मुकाबले भारी है। Rafale जहां अधिकतम 24,500 किलो वजन (विमान समेत) कैरी कर सकता है। वहीं, J-20 34 हजार किलो से लेकर 37 हजार किलो वजन ले जा सकता है। Rafale ओमनी रोल लड़ाकू विमान है। यह पहाड़ों पर कम जगह में उतर सकता है। इसे समुद्र में चलते हुए युद्धपोत पर उतार सकते हैं. राफेल चारों तरफ निगरानी रखने में सक्षम है। इन सभी तुलनाओं के आधार पर हम कहा सकते हैं कि भारत का Rafale, चीन के Chengdu J-20 काफी बेहतर है। इस खबर के बारे में और अधिक जानने के लिए देखिए ये Video…
 

यह भी पढ़ें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept